25+ rahat indori shayari in hindi | dr rahat indori shayari

rahat indori shayari : If you are looking for rahat indori shayari or dr rahat indori shayari. So we have 25+ rahat indori shayari in hindi. With beautiful shayari photo. Which can tell your hidden feelings your love one. These shayari cover many points related to your life. You can share them with your friends and loved ones , Facebook story, WhatsApp status.

rahat indori shayari in hindi

अगर खिलाफ है होने दो जान थोड़ी है,

ये सब धुआ है कोई आसमान थोड़ी है,

लगेगी आग तो आयेंगे घर कई जद में,

यहाँ पर सिर्फ हमारा मकान थोड़ी है।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

मैं जानता हूं के मेरे दुश्मन भी कम नहीं लेकिन,

हमारी तरह हथेली पर जान थोड़ी है,

हमारे मुहँ से जो निकले वही सदाकत है,

हमारे मुहँ में तुम्हारी जुबान थोड़ी है।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

जो आज साहिबे मसनद है कल नहीं होंगे,

किराएदार है जाती मकान थोड़ी है,

सभी का खून शामिल यहां की मिट्टी में,

किसी के बाप का हिन्दुस्तान थोड़ी है।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा भी ना सकूँ,

ऐसे जिद्दी है परिंदे के उड़ा भी ना सकूँ,

फूँक डालूंगा किसी रोज दिल की दुनिया,

ये तेरा खत तो नहीं कि जला भी ना सकूँ।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

इक ना इक रोज कहीं ढूँढ ही लूँगा तुझको,

ठोकरें जहर नहीं है कि मैं खा भी ना सकूँ,

फल तो सब मेरे दरख्तों के पके हैं लेकिन,

इतनी कमजोर हैं शाखें की हिला भी ना सकूँ।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

अंधेरे चारो तरफ सायं-सायं करने लगे,

चिराग हाथ उठाकर दुआएँ करने लगे,

तरक्की कर गए बीमारियों के सौदागर,

ये सब मरीज़ है जो अब दुआएँ करने लगे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

लहू-लुहान पड़ा था ज़मीं पर इक सूरज,

परिंदे अपने परों से हवाएँ करने लगे,

ज़मीं पर आ गए आखों से बहकर आंसू,

बुरी खबर है फरिश्ते खताएं करने लगे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

झुलस रहेंगे है यहाँ छांव बांटने वालें,

वो धूप है कि शजर इल्तिजाएं करने लगे,

अजीब रंग था मजलिस का खूब महफिल थी,

सफेद पोश उठे कांव-कांव करने लगे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

अपने होने का हम कुछ इस तरह पता देते थे,

खाक मुट्ठी में उठाते थे उड़ा देते थे,

बेसमर जान के काट चुके हैं जिनको,

याद आते हैं के बेचारे हवा देते थे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

rahat indori shayari in hindi

उनकी महफिल में वही सच था वो जो कुछ भी कहे,

हम भी गुंगो की तरह हाथ उठा देते थे,

अब मेरे हाल पर शर्मिंदा हुए हैं वो बुजुर्ग,

जो मुझे फलने-फूलने की दुआ देते थे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

अब से पहले जो कातिल थे बहोत अच्छे थे,

कत्ल से पहले वो पानी तो पिला देते थे,

वो हमें कोसता रहता था जमाने भर में,

और हम अपना कोई शेर सुना देते थे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

घर की तामीर में हम बरसों रहे हैं पागल,

रोज दीवार उठाते थे, गिरा देते थे,

हम भी उस झूठ की पेशानी को बोसा देंगे,

तुम भी सच बोलने वालों को सजा देते थे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

आंख प्यासी है कोई मंजर दे,

इस जंजीरें को भी समंदर दे,

अपना चेहरा तलाश करना है,

अगर नहीं आईना तो पत्थर दे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

बंद कलियों को चाहिए शबनम,

इन चिरागों में रोशनी भर दे,

पत्थरों के सरो से कर्ज उतार,

इस सदी को कोई पग्मबर दे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

कहकहों में गूजर रहीं है हयात,

अब किसी दिन उदास भी कर दे,

फिर ना कहना के खुदकुशी है गुनाह,

आज फुर्सत है फैसला कर दे।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

इन्तेज़ामात नये सिरे से सम्भाले जाये,

जितने कमजर्फ है महफिल से निकाले जाये,

मेरा घर आग की लपटों में छुपा है लेकिन,

जब मजा है तेरे आँगन में उजाले जाये।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

ग़म सलामत है तो पीते ही रहेंगे लेकिन,

पहले मैख़ाने की हालत सम्भाली जाये,

खाली वक़्तो में कहीं बैठ के रोलो यारों,

फुर्सत है तो समन्दर ही खंगाले जाये।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

खाक में यूँ ना मिला जब्त की तौहीन ना कर,

ये वो आंसू है जो दुनिया को बहा ले जाये,

हम भी प्यासे है ये एहसास तो हो साकी को,

खाली शीशे ही हवाओं में उछाले जाये।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

rahat indori shayari in hindi

उंगलियां यूँ ना सब पर उठाया करो,

खर्च करने से पहले कमाया करो,

जिंदगी क्या है खुद समझ जाओगे,

बारिशों में पतंगे उड़ाया करो।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

दोस्तों से मुलाकात के नाम पर,

नीम की पत्तियों को चबाया करो,

शाम के बाद जब तुम सहर देख लो,

कुछ फकीरों को खाना खिलाया करो

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

अपने सीने में दो गज ज़मीं बांधकर,

आसमानों का ज़फ़र आजमाया करो,

चांद-सूरज कहाँ, अपनी मंजिल कहाँ,

ऐसे वैसे को मुहँ मत्त लगाया करो।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

उसकी कत्थई आखों में है, जंतर-मंतर सब,

चाकू-वाकू, छुरिया-बुरिया, खंजर-बंजर सब,

जिस दिन से तुम रूठी मुझसे सब रूठे-रूठे है,

चादर-वादर, तकिया-वकिया, बिस्तर-विस्तर सब।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

मुझसे बिछड़ कर वो भी कहाँ अब पहले जैसी है,

फीके पड़ गए कपड़े-वपङे, जेवर-वेवर सब,

अखिर मैं किस दिन डूबूंगा फिक्र करते हैं,

कश्ती-वश्ती, दरिया-वरिया, लंगर-वंगर सब

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

एक दिन देखकर उदास बहोत,

आ गए थे वो पास बहोत,

खुद से मैं कुछ दिनों से मिल ना सका,

लोग रहते हैं आस-पास बहोत।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

किसने लिखा था शहर का नोहा,

लोग पढ़कर हुए उदास बहोत,

अब कहाँ हमसे पीने वाले रहे,

एक टेबल पर एक गिलास बहोत।

-राहत इंदौरी

rahat-indori-shayari-in-hindi

Thank you so much ❤️ sir / ma’am I hope you enjoy it.

For more you may visit our other blogs we have lots of shayari, poems, Jokes, thoughts and quotes ??.

Other top blogs ( click ⬇️ here )

30+ friendship quotes in english | best friend quotes | family quotes
25+ stupid funny jokes | dumb jokes | funny jokes in english | english jokes
20+ disraeli quotes in english | motivational quotes | success quotes

2 thoughts on “25+ rahat indori shayari in hindi | dr rahat indori shayari”

  1. Thanks for sharing superb informations. Your site is so cool. I’m impressed by the details that you?¦ve on this site. It reveals how nicely you understand this subject. Bookmarked this website page, will come back for more articles. You, my friend, ROCK! I found just the info I already searched all over the place and simply couldn’t come across. What a perfect site.

    Reply

Leave a Comment